Friday, January 02, 2015

एक पिता का पत्र ..

एक पिता का पत्र ..

माता पिता जीवन  की सबसे अनमोल सोगात है और हर माता  पिता यही चाहते हैं की उनके बच्चे एक बेहतर इन्सान बन सके . अमरीका के मशहूर  राष्ट्रपति ने अपने बेटे के हेडमास्टर को एक चिट्ठी लिखी थी बरसों बाद यह आज भी उतनी ही सच्ची बात कहती है जितनी बीते हुए कल के लिए थी
उस में लिखा था कि  उस को अभी बहुत कुछ सीखना है मैं जानता हूँ सभी इंसान ईमानदार और सच्चे नही होते हैं लेकिन हो सके तो उस को किताबों के जादू के बारे में बताइए इसके आलवा  हो सके तो उसको उन चीजों के बारे भी सोचने का वक्त दीजिये जो उसके आस पास हैं ,जैसे वह जाने की तितली का उड़ना क्या होता है मधुमक्खियों का थिरकना क्या है और वह रंग बिरंगे फूलो के खिलने के विषय के साथ साथ हरे भरे पहाडों के बारे में भी सोच सके उसको आप सिखाये कि  स्कूल में धोखा  देने से असफल होना ज्यादा अच्छा है भले  ही दुनिया उसके विचारों को ग़लत बताये लेकिन वह अपनी सोच पर भरोसा रखना सीखे  उसको विन्रमता और सख्त में फर्क बताइये ताकि वह सिर्फ़ लकीर का फ़कीर हो का जिंदगी में न रह जाए उसको सिखाये कि  वह सबकी बातें सुने लेकिन उसको सच की कसौटी पर जरुर देखे और उसके बाद केवल सही चीजों  को ही मंजूर करे


उसको सिखाये कि  कैसे दुःख में भी हंसा जाता है और अगर आंसू आ भी आ जाते हैं तो इस में कोई शर्म की बात नही है उसको यह  भी बताये कि  सनकी लोगों को झिड़क दे और बहुत मीठी मीठी बातों से सावधान रहे अपनी ताक़त  और दिमाग की ऊँची  कीमत तो लगाए लेकिन अपने दिल और आत्मा  का सौदा न करे   और उसको  यदि यह शिद्दत से महसूस होता है की वह सही है तो सामने खड़ी भीड़ की चीख  को अनसुना कर दे उसके साथ नरमी से पेश आए लेकिन हमेशा उसको गले से नही लगाए क्यूंकि सोना लोहे में तप कर ही फौलाद बनता है उसको ख़ुद में भरोसा रखना  सिखाये इतन बहादुर  बनाए कि वह अपनी आवाज़ उठा सके वह इंसानियत पर भरोसा कर सके यह विश्वास  उसको दे। मेरी उम्मीदे ढेर सारी है अब देखते हैं आप क्या कर सकते हैं मेरा बेटा एक बहुत नेक बच्चा है

लिंकन ..


लगता नही आपको कि कितना सच है इन बातों में आज यह शिक्षा अपने बच्चो को देनी बहुत जरुरी है जिस तरह का माहौल  आज कल होता जा रहा है बच्चे न जाने कौन सी भाषा सीख रहे हैं .आस पास के माहौल  से किताबी शिक्षा के साथ साथ व्यवहारिक शिक्षा भी बहुत जरुरी है ..तभी बच्चे हमारे साथ साथ अपने देखे सपने भी पूरे कर सकेंगे ..
--

3 comments:

yashoda agrawal said...

आपकी लिखी रचना शनिवार 03 जनवरी 2015 को लिंक की जाएगी........... http://nayi-purani-halchal.blogspot.in आप भी आइएगा ....धन्यवाद!

Onkar said...

सार्थक रचना

Digamber Naswa said...

प्रेरक पत्र ... सार्थक लिखा है ...
नव वर्ष की मंगल कामनाएं ..