Wednesday, September 03, 2008

पैसा बोलता है |

आज मनोरंजन व्यापार की हर शाखा अपनी तरह से मुनाफा कमाना चाहती है | पहले जहाँ सास बहू सीरियल का ज़माना था .खैर इस तरह आने तो कम अभी भी नहीं हुए हैं यह ,और होंगे भी नही जब तक दर्शक इसको सिरे से नकार नही देंगे | फ़िर भी अब जा ज़माना प्राइम टाइम पर रियलटी शो का ज़माना है | यह रियलटी शो अब दर्शकों को अधिक लुभाने लगे हैं |

अभी जारी किए गए एक आंकडे पर जब नज़र पड़ी तो बहुत हैरानी हुई | पहले जहाँ सास बहू धारावाहिकों में विज्ञापनों के लिए ६०,०००- से ७०.००० रुपये प्रति १० सेकेंड के दर से वसूले जाते थे ,वहीँ रियल्टी शो के दौरान इसकी कीमत दुगनी वसूली जा रही है | अब इस तरह के शो में दस सेकेंड के विज्ञापन के लिए १.२ लाख -१,५ लाख रुपये देने पड़ते हैं |

इसकी वजह यही है कि अब इस तरह के कार्यक्रम अधिक पसंद किए जाते हैं | कारण साफ़ है कि एक तो इस में कुछ अलग देखने को मिलता है जो मनोरंजन करता है | दूसरे इस में अधिक पैसा लगे होने के कारण इसके निर्माता इसका प्रसार जोर शोर से करते हैं | बिग बॉस का का रियल्टी शो का जिस तरह से प्रसार प्रचार किया जा रहा है वह देखने लायक है | इस में काम करने वाले अधिकतर विवादित लोग हैं | जो न जाने कब अपने अपराधों से बरी हो पायेंगे | यहाँ पर राहुल हो या मोनिका ,सब मासूमियत का चेहरा लगा कर दर्शकों से सहानुभूति की उम्मीद लगाए भले ही बैठे हों .पर बिग बॉस के घर में रहने वालों ने इन्हे घर से बेघर करने का निर्णय ले लिया था | मोनिका को इस घर से बे- दखल कर दिया गया है | बाहर निकल कर भी वह आंसू में अपनी कहानी सुनाती बाकी बस | बाकी बचे हुए में से कुछ लोग भद्दी गाली गलौज पर उतर आए हैं | डायना हेडन अब क्या गुल खिलाती है वह आगे पता चलेगा ..| इन में से एक भी ऐसा चरित्र नहीं है जो किसी का रोल मॉडल बन सके ..पर पैसा बोलता है |

दस का दम में अक्षय कुमार ,केटरीना कैफ आमिर खान आदि को बुलाना भी इस तरह से शो को और अधिक प्रचार करने का तरीका था | दर्शक को उल्लू बनाना इन चैनलों का मुख्य शगल बन चुका है | बे इन्तहा पैसा इस तरह से कार्यकर्मों पर लगाया जाता है और इस तरह से सृजनात्मकता धीरे धीरे समाप्त होती जा रही है | दर्शक को ख़ुद समझदार बनना होगा तभी नए अच्छे प्रेरणादायक सीरियल्स का निर्माण हो सकेगा |


Post a Comment