Tuesday, October 20, 2009

दुनिया अजब गजब

क्या आप जानते हैं कि कहने को तो सब जीव जंतु के खून का रंग लाल होता है पर टिड्डी एक ऐसा कीट है जिसका रक्त का रंग सफ़ेद होता है ..

तितली की स्वाद ग्रंथि उसके पिछले पैरों में होती है

हाथी के दांत दो या तीन बार नहीं पूरे जीवन काल में यह छः बार निकलते हैं
शहद आपको अच्छा लगता है पर इसको इकठ्ठा करने में सिर्फ़ एक पाउंड शहद बनाने में बीस लाख फूलों से पराग इकठ्ठा करती है मधुमखी.... कितनी मेहनत का काम है

खटमल तीन सालों तक बिना भोजन किए जीवित रह सकता है .क्या यह किसी और के लिए संभव है किसी भी पक्षी का दसवां अंडा सभी नौ अण्डों से बड़ा होता है यह बहुत बार देखा गया है ..

सभी
पक्षी पेड़ पोधों के साथ धरती पर बैठते उड़ते रहते हैं ..पर हीरल चिडिया एक ऐसी चिडिया है जो कभी भी किसी भी अवस्था में कहीं नही बैठती है और चलते चलते इंसान की बात ..

क्या
आप जानते हैं कि फ्रांसीसी लोगो का प्रिय भोजन है मेंढक की टाँगे ...फ्रांस को अपनी खपत का अधिकतर भाग आयत करना पड़ता है.... बीते दशक में सम्पूर्ण यूरोप में ६२०० तन मेढक की टाँगे आयत की गयीं... इस में ४४ % फ्रांस ४२% बेल्जियम और लक्ज्म बर्ग और १४% इटली द्वारा खरीदी गयीं ..और बाकी तुर्की .चीन एनी देश से भी फ्रांस ३००० से ४००० टन मेढक की टाँगे आयत करता है अकेले भारत वर्ष ने सिर्फ़ १९८१ में साढ़े चार हजार टन मेढक की टाँगे निर्यात करी थी ..जिनसे हमें लगभग एक करोड़ डालर की विदेशी मुद्रा मिली थी ..यह निर्यातइतना बढ़ गया था कि कोलकाता के आस पास के क्षेत्रं से मेंडक के समूल नस्त हो गए थे और अंत में १९८७ में देश में मेंढक की टांगो के निर्यात पर रोक लगानी पड़ी

अब जर्मनी और अन्य देश यह सुझाव दे रहे हैं कि कुछ विशेष जाती के मेंढक को जातियीं को सरंक्षित घोषित कर दिया जाए नही तो यह जातियाँ विश्व से लुप्त हो जायेगी....तोबा कुछ भी खातें है कुछ लोग :)
Post a Comment