Monday, October 13, 2008

ज़िन्दगी के रंगों का कैनवास है ""साया ..""

इसको पढने के लिए इस पर क्लिक करे

"'साया "'की समीक्षा मनविंदर द्वारा ...
मनविंदर हिन्दुस्तान पेपर में लिखती है ..उन्होंने इस किताब की समीक्षा १० अक्तूबर को हिन्दुस्तान पेपर में बुक वॉच में करी है ..शुक्रिया मनविंदर ..अभी तक मेरी इस पहली किताब को आप सब का बहुत स्नेह मिल रहा है ...शुक्रिया ..... जो किताब लेना चाहे मेरे आई डी पर मुझसे सम्पर्क कर सकते हैं ...धन्यवाद
ranjanabhatia2004@gmail.com
Post a Comment